Tuesday, April 23, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeपर्यटनG20 की बैठकों को लेकर तैयारियों में जुटी उत्तराखंड सरकार, खातिरदारी के...

G20 की बैठकों को लेकर तैयारियों में जुटी उत्तराखंड सरकार, खातिरदारी के लिए तैयार हुआ ओणी गांव

ऋषिकेश(उत्तराखंड): G20 की बैठकों को लेकर उत्तराखंड सरकार तैयारियों में जुटी हुई है. इसी कड़ी में सरकार समिट में आने वाले मेहमानों की खातिरदारी के लिए ओणी गांव को भी सुविधाओं से सुसज्जित कर रही है. दरअसल, ओणी गांव में जी 20 की बैठक होनी है. जिसके लिए सरकार गांव को हाईटेक करने में जुटी हुई है. G20 की बैठक के लिए ओणी गांव को दुल्हन की तरह सजाया गया है. गांव के बदले स्वरूप को देखकर लोग भी काफी खुश नजर आ रहे हैं. इसके साथ ही रोजगार की तलाश में बाहर गए युवाओं की भी घर वापसी हो रही है.ओणी में 20 देशों के प्रतिनिधि बिताएंगे एक दिन: बताया जा रहा है कि 20 देशों के प्रतिनिधि अपना एक दिन ओणी गांव में बिताएंगे, इसलिए आंगनबाड़ी केंद्रों को हाईटेक बनाया जा रहा है. आंगनबाड़ी केंद्र के भवन को देखकर लोग काफी आकर्षित हो रहे हैं. पंचायत घर को भी बड़ी खूबसूरती के साथ तैयार किया जा रहा है. गांव के आंतरिक मार्गों पर इंटरलॉकिंग टाइल्स लगाई गई हैं. गांव के घरों की पुताई कर उस पर पेंटिंग की जा रही है. उत्तराखंड की पारंपरिक वेशभूषा और दार्शनिक स्थानों को भी चित्र के माध्यम से दर्शाया जा रहा है.

G20 बैठक के लिए तैयार ओणी गांवमंदिर समेत तमाम जगहों का हो रहा सौंदर्यीकरण: ओणी गांव में सरकार द्वारा एकीकृत कृषि प्रणाली, पॉली हाउस, जल संरक्षण, प्राकृतिक जल स्रोत संवर्धन, बायोगैस प्लांट, अमृत सरोवर, होमस्टे, ट्रैक रुट, जैविक खेती, पानी निकासी, पेयजल, विद्युत व्यवस्था, सिंचाई नहर, हौज मरम्मत, सोलर लाइट, शौचालय, पशु चारागाह, विद्यालय भवन, स्मार्ट क्लास, पार्क, पंचायत भवन, आंगनबाड़ी केंद्र, मंदिरों का सौंदर्यीकरण करवाया जा रहा है. सात ही गांव के लोगों को भी स्वरोजगार से भी जोड़ा जा रहा है. इसके अलावा मत्स्य पालन के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित किया जा रहा है. मछलियों के बीज भी ग्रामीणों को उपलब्ध कराए गए हैं.G20 Meeting In Uttarakhand:ओणी गांव में संसकृति की झलक.पढ़ें- G20 मीटिंग को लेकर युद्ध स्तर पर तैयारियां, 20 हजार फूल करेंगे विदेशी मेहमानों को आकर्षित

जी 20 की वजह से समस्याओं का हुआ समाधान: ग्रामीण चतर सिंह पुंडीर का कहना है कि जी 20 की वजह से उनके गांव की सूरत ही बदल गई है, जहां पहले इस गांव में मूलभूत सुविधाओं की कमी थी. वहीं अब सभी तरह की सुविधाएं गांव में मिल रही हैं. पहले गांव तक पहुंचने के लिए सड़क नहीं होती थी, लेकिन अब गांव तक आने के लिए सड़क का निर्माण कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि बिजली की समस्या का भी समाधान हो गया है. जगह-जगह सोलर लाइट लगाई गई है. इसके साथ ही विद्युत पोल भी लगाए गए हैं, जिस पर स्ट्रीट लाइटें लगी हुई है.हाईटेक नजर आने लगा ओणी गांव: ग्रामीण महिला बबली भंडारी ने बताया पहले गांव में काफी गंदगी हुआ करती थी, लेकिन अब जिस तरह से यहां कार्य हो रहा है. उसने गांव की सूरत ही बदल दी है. हमारा गांव काफी साफ-सुथरा और हाईटेक नजर आने लगा है. उन्होंने कहा विदेशी मेहमानों के स्वागत के लिए वे काफी उत्साहित हैं. पारंपरिक वेशभूषा में यहां पहुंचने वाले मेहमानों का भव्य स्वागत किया जाएगा.

G20 Meeting In Uttarakhand:दीवारों पर बनाई गई खूबसूरत पेंटिंगगांव वापस आने लगे हैं युवा: गांव में सुख-सुविधाएं और रोजगार ना होने की वजह से युवा नौकरी की तलाश में महानगरों की ओर चले गए थे,लेकिन जब से जी 20 के लिए गांव का चयन हुआ है. उसके बाद से गांव की बदलती सूरत ने युवाओं को एक बार फिर अपनी ओर आकर्षित कर लिया है और युवा वापस गांव आने लगे हैं. सड़क, बिजली,पानी जैसी मूलभूत सुविधाएं पहुंचने के बाद अब गांव में ही रोजगार के अवसर मिल सकेंगे.पढ़ें-G20 meeting in Rishikesh: प्रेमचंद्र अग्रवाल ने ली विभागीय अधिकारियों की बैठक, तैयारियों का लिया जायजा

महिलाओं को दी जा रही ट्रेनिंग: ओणी गांव पहुंचने के बाद विदेशी मेहमानों से सवाल जवाब करने के लिए गांव की महिलाओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है. गांव के प्रधान सहित वार्ड मेंबरों को भी इसको लेकर बाकायदा ट्रेनिंग दी जा रही है. महिलाएं अपने गांव के बारे में विदेशी प्रतिनिधियों से सवाल-जवाब कर पाएंगी और अपनी संस्कृति और वेशभूषा के बारे में भी जानकारी देंगी.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें