Saturday, February 4, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeअपराधपाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आका ने उत्तराखंड में उपलब्ध कराये हथियार,...

पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आका ने उत्तराखंड में उपलब्ध कराये हथियार, उधम सिंह नगर से है आरोपी जगजीत

दिल्ली: पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आका ने उत्तराखंड में हथियार उपलब्ध करवाने का बड़ा खुलासा दिल्ली पुलिस ने किया है। दिल्ली पुलिस ने बताया कि ड्राप डेड मैथड से ऑपरेशन को अंजाम देकर शातिरों ने पाकिस्तान से उत्तराखंड और उत्तराखंड से दिल्ली तक हथियार पहुंचाए, पुलिस के हत्थे चढ़े शातिर अपराधियों से पुलिस ने ये सारे राज उगलवाये है।


दरअसल दिल्ली पुलिस के हत्थे चढ़े नौशाद और जगजीत से पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की जिसके बाद खुलासे के बाद खुलासे हुए। आरोपी गूगल मैप के ज़रिए उत्तराखंड से वो हथियार दिल्ली लेकर पहुंचे जो पाक में बैठे आकाओं ने उत्तराखंड में इन अपराधियों को उपलब्ध करवाए। इस सर्च ऑपरेशन में पुलिस को तकरीबन दो महीने लग गए। इसी दौरान पाकिस्तान में बैठे आतंकियों के आकाओं ने इन आरोपियों को सिग्लन एप पर निर्देश दिए और गूगल मैप के ज़रिए हथियारों से भरे बैग की लोकेशन भेजी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि अपराधियों ने ऑपरेशन को ड्रॉप डेड मैथड का नाम दिया था ताकि खुफिया एजेंसियों को इसकी भनक न लगे।


दिल्ली पुलिस का कहना है कि 26 जनवरी से पहले कुछ लोगों के संदिग्ध रोल के बारे में जानकारी मिली थी। सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने 12 जनवरी को जहांगीरपुरी इलाके से दो संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इस दौरान यह पता चला कि ये लोग टारगेट किलिंग का प्लान कर रहे थे। इसके साथ ही दोनों संदिग्ध पहले भी बड़ी वारदातों में शामिल रह चुके हैं। पूछताछ के बाद जगजीत और नौशाद पर गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम लगाया गया था


दिल्ली पुलिस की खुफिया एजेंसी  के स्पेशल सेल सूत्रों के मुताबिक इसमें 8 लोग शामिल होने की आशंका है। एक पाकिस्तान में दूसरा कनाडा में है,जबकि दो अन्य का इस्तेमाल हथियार उपलब्ध करवाने में और अन्य दो का इस्तेमाल हथियारों को खास लोकेशन में रखकर उनकी करेंट लोकेशन भेजने में किया गया। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि टीम वैज्ञानिक सबूत जुटाने में लगी है,ताकि हथियारों को उत्तराखंड पहुंचाने और वहां से दिल्ली किसी बड़ी घटना को अंजाम देने के लिए पहुंचाने से जुड़े सभी तारो तक पहुंचा जा सके।
अब तक ये खुलासे
1. नौशाद आतंकी संगठन हरकत-उल-अंसार से जुड़ा था। उसे विस्फोटक अधिनियम के एक मामले में 10 साल की सजा भी हो चुकी है।
2. निशानदेही पर दो हैंड ग्रेनेड, तीन पिस्टल और 22 कारतूस बरामद हुए। इनके आकाओं ने इनको हिंदू संगठनों के नेताओं को निशाना बनाने के निर्देश दिए थे।3.विदेश में बैठे आकाओं को क्षमता दिखाने के लिए किए इन्होंने दिल्ली में युवक के नौ टुकड़े कर उसकी हत्या की थी और वारदात का 37 सेकंड का वीडियो बना आकाओं को भेजा था

सूत्रों से पता चला है कि पाकिस्तान में बैठे आका के भी कई नाम हैं। ज्यादातर समय उसने अपना नाम हैदर बताया। हालांकि, आरोपियों से इस पाकिस्तानी हैंडलर ने कहा कि एजेंसियों को चकमा देने के लिए कुछ उपनाम भी रखे जाते हैं। तुम लोग भी अपने अलग नामों से अलग-अलग जगहों पर अपना ठिकाना बनाना। वहीं कनाडा में बैठे इनके आका को लेकर स्पेशल सेल का कहना है कि अर्शदीप डाला इनके संपर्क में था। अर्शदीप डाला केटीएफ यानी खालिस्तान टाइगर फोर्स का आतंकी है। पुलिस को भारतीय नेटवर्क में 4 संदिग्धों के शामिल होने का शक है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें