Tuesday, July 16, 2024
No menu items!
Google search engine
HomeUncategorizedउत्तराखंड : सुरंग का ढहा आगे का हिस्सा, बीच में हुआ छेद,...

उत्तराखंड : सुरंग का ढहा आगे का हिस्सा, बीच में हुआ छेद, आवाजाही बंद अलकनंदा नदी का बढ़ा जल स्तर

रुद्रप्रयाग में कल रात बारिश आफत बनकर बरसी। बारिश के कारण रुद्रप्रयाग शहर में केदारनाथ हाइवे पर स्थित सुरंग का ऊपरी हिस्सा ढह गया। जबकि सुरंग के बीच में एक बड़ा छेद भी हो गया। फिलहाल इस रस्ते केदारनाथ धाम जाने वाले वाहनों की आवाजाही बंद की गई है। यात्री बाईपास मोटरमार्ग से आवाजाही कर रहे हैं। कल रात को हुई बारिश से शहर में कई स्थानों पर जल भराव की स्थिति भी पैदा हो गई। वहीं बद्रीनाथ क्षेत्र में हो रही बारिश के चलते अलकनंदा नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। घाट जलमग्न हो चुके हैं। बेलनी पुल के नीचे शिव मूर्ति डूब गई है और आवासीय घरों को खतरा पैदा हो गया है। रुद्रप्रयाग में कल रात से लगातार बारिश जारी है। बारिश के कारण आम जन जीवन प्रभावित हो गया है। रुद्रप्रयाग में केदारनाथ हाइवे पर लगभग 50 मीटर लंबी सुरंग स्थित है। कल रात हुई बारिश से इस सुरंग का आगे वाला हिस्सा टूट गया। जबकि सुरंग के बीच में एक छेद भी हो गया। फिलहाल सुरंग से वाहनों की आवाजाही बंद हो गई है। यात्री और स्थानीय लोगों के वाहन बाईपास मोटरमार्ग से आवाजाही कर रहे हैं। सुरंग को खोलने का कार्य भी शुरू हो गया है। जिले में लगातार बारिश जारी है। बारिश के बीच केदारनाथ यात्रा चल रही है। धाम में भी रुक रुक कर बारिश हो रही है। वहीं बद्रीनाथ क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश के चलते अलकनंदा नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। नदी खतरे के निशान तक पहुंच गई है। नदी से सटे आवासीय भवनों को खतरा पैदा हो गया है। बेलनी पुल के नीचे स्थित शिव की मूर्ति भी जलमग्न हो चुकी है। उफान पर बह रही अलकनंदा नदी में कूड़ा खचरा और बड़े बड़े पेड़ बहकर आ रहे हैं। सभासद सुरेंद्र रावत ने कहा कि केदारघाटी के साथ केदारनाथ धाम को जोड़ने वाली संगम स्थित सुरंग बंद हो चुकी है। यहाँ पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने से सुरंग में बड़ा छेद हो चुका है और आवाजाही बंद हो चुकी है। नदियों का जल स्तर बढ़ गया है। नदी किनारे बसे लोगों से सचेत रहने को कहा जा रहा है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें