Saturday, February 24, 2024
No menu items!
Google search engine
HomeBollywoodप्रतिष्ठित 'मदर इंडिया' अभिनेता साजिद खान की कैंसर से मौत, केरल में...

प्रतिष्ठित ‘मदर इंडिया’ अभिनेता साजिद खान की कैंसर से मौत, केरल में आराम के लिए रखा गया

अलाप्पुझा, केरल – [28, December 2023]: प्रतिष्ठित फिल्म ‘मदर इंडिया’ में अपनी यादगार भूमिका के लिए मशहूर प्रशंसित भारतीय अभिनेता साजिद खान का कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया है। ‘मदर इंडिया’ में अपने महत्वपूर्ण योगदान के अलावा, साजिद खान ने ‘माया’ और ‘द सिंगिंग फ़िलिपिना’ जैसी अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाओं में महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं। अनुभवी अभिनेता को केरल के अलाप्पुझा जिले के कायाकुलम टाउन जुमा मस्जिद में दफनाया गया है।

क्या साजिद खान थे?
राजकुमार पीतांबर राणा और सुनीता पीतांबर के घर पैदा हुए साजिद खान को फिल्म निर्माता मेहबूब खान ने गोद लिया था और उनका पालन-पोषण किया था। हालांकि काफी समय तक फिल्मों में सक्रिय रूप से शामिल नहीं रहने के बावजूद साजिद खान को उनकी भूमिकाओं से पहचान मिली, खासकर मेहबूब खान की ऑस्कर-नामांकित फिल्म ‘सन ऑफ इंडिया’ में। ‘मदर इंडिया’ के अलावा, उनकी पहली फिल्म जिसके लिए उन्हें 750 रुपये की मामूली फीस मिली थी, साजिद खान का फिल्म उद्योग में योगदान उल्लेखनीय था।

विनम्र शुरुआत और स्टारडम का उदय
साजिद खान का बचपन गरीबी से गुजरा, लेकिन उनकी प्रतिभा को फिल्म निर्माता मेहबूब खान ने पहचाना, जिन्होंने उन्हें ‘मदर इंडिया’ में लिया। अभिनेता ने फिल्म ‘माया’ में अपनी भूमिका के साथ एक किशोर आदर्श के रूप में स्टारडम हासिल किया, जिसमें उन्होंने एक स्थानीय लड़के ‘रज्जी’ का किरदार निभाया, जो जे नॉर्थ के चरित्र से दोस्ती करता है। उनकी लोकप्रियता अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ी और उन्होंने फिलीपींस में नोरा औनोर के साथ “द सिंगिंग फिलिपिना,” “माई फनी गर्ल,” और “द प्रिंस एंड आई” जैसी फिल्मों में अभिनय किया। साजिद खान ने मर्चेंट-आइवरी प्रोडक्शन “हीट एंड डस्ट” में एक डकैत प्रमुख की भूमिका भी निभाई।

व्यक्तिगत जीवन और परोपकार
साजिद खान ने 1990 में शादी की लेकिन अंततः तलाक ले लिया, उन्होंने फिल्म उद्योग से अपने अंतराल के दौरान अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा परोपकार के लिए समर्पित कर दिया।

साजिद खान का निधन भारतीय सिनेमा में एक युग के अंत का प्रतीक है, जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा दोनों में बहुमुखी प्रदर्शन और योगदान की विरासत को पीछे छोड़ गया है।

प्रतिष्ठित ‘मदर इंडिया’ अभिनेता साजिद खान की कैंसर से मौत, केरल में आराम के लिए रखा गया

अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाओं के लिए जाने जाने वाले प्रसिद्ध अभिनेता का कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया

अलाप्पुझा, केरल – [दिनांक]: प्रतिष्ठित फिल्म ‘मदर इंडिया’ में अपनी यादगार भूमिका के लिए मशहूर प्रशंसित भारतीय अभिनेता साजिद खान का कैंसर से लंबी लड़ाई के बाद निधन हो गया है। ‘मदर इंडिया’ में अपने महत्वपूर्ण योगदान के अलावा, साजिद खान ने ‘माया’ और ‘द सिंगिंग फ़िलिपिना’ जैसी अंतर्राष्ट्रीय परियोजनाओं में महत्वपूर्ण भूमिकाएँ निभाईं। अनुभवी अभिनेता को केरल के अलाप्पुझा जिले के कायाकुलम टाउन जुमा मस्जिद में दफनाया गया है।

क्या साजिद खान थे?
राजकुमार पीतांबर राणा और सुनीता पीतांबर के घर पैदा हुए साजिद खान को फिल्म निर्माता मेहबूब खान ने गोद लिया था और उनका पालन-पोषण किया था। हालांकि काफी समय तक फिल्मों में सक्रिय रूप से शामिल नहीं रहने के बावजूद साजिद खान को उनकी भूमिकाओं से पहचान मिली, खासकर मेहबूब खान की ऑस्कर-नामांकित फिल्म ‘सन ऑफ इंडिया’ में। ‘मदर इंडिया’ के अलावा, उनकी पहली फिल्म जिसके लिए उन्हें 750 रुपये की मामूली फीस मिली थी, साजिद खान का फिल्म उद्योग में योगदान उल्लेखनीय था।

विनम्र शुरुआत और स्टारडम का उदय
साजिद खान का बचपन गरीबी से गुजरा, लेकिन उनकी प्रतिभा को फिल्म निर्माता मेहबूब खान ने पहचाना, जिन्होंने उन्हें ‘मदर इंडिया’ में लिया। अभिनेता ने फिल्म ‘माया’ में अपनी भूमिका के साथ एक किशोर आदर्श के रूप में स्टारडम हासिल किया, जिसमें उन्होंने एक स्थानीय लड़के ‘रज्जी’ का किरदार निभाया, जो जे नॉर्थ के चरित्र से दोस्ती करता है। उनकी लोकप्रियता अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ी और उन्होंने फिलीपींस में नोरा औनोर के साथ “द सिंगिंग फिलिपिना,” “माई फनी गर्ल,” और “द प्रिंस एंड आई” जैसी फिल्मों में अभिनय किया। साजिद खान ने मर्चेंट-आइवरी प्रोडक्शन “हीट एंड डस्ट” में एक डकैत प्रमुख की भूमिका भी निभाई।

व्यक्तिगत जीवन और परोपकार
साजिद खान ने 1990 में शादी की लेकिन अंततः तलाक ले लिया, उन्होंने फिल्म उद्योग से अपने अंतराल के दौरान अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा परोपकार के लिए समर्पित कर दिया।

साजिद खान का निधन भारतीय सिनेमा में एक युग के अंत का प्रतीक है, जो राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सिनेमा दोनों में बहुमुखी प्रदर्शन और योगदान की विरासत को पीछे छोड़ गया है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें