Wednesday, July 17, 2024
No menu items!
Google search engine
HomeUncategorizedसीएम पुष्कर सिंह धामी के विधानसभा क्षेत्र के ग्राम प्रधानों ने किया...

सीएम पुष्कर सिंह धामी के विधानसभा क्षेत्र के ग्राम प्रधानों ने किया फर्जीवाड़ा।

एक तरफ धामी सरकार जीरो टॉलरेंस की बात करती है, वहीं दूसरी तरफ लगातार सामने आ रहे भ्रष्टाचार, फर्जीवाड़े के मामले जीरो टॉलरेंस की बात पर सवाल खड़े करते हैं। आलम ये है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विधानसभा क्षेत्र में ग्राम प्रधानों द्वारा फर्जीवाड़ा किए जाने का मामला सामने आया है। चंपावत के ग्रामीण लक्ष्मी दत्त जोशी के मुताबिक आरटीआई से कई ऐसे चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं, जो प्रधानों के फर्जीवाड़े को उजागर करते हैं। उनका आरोप है कि राज्य निर्वाचन आयोग के आदेश के बाद भी जांच सही ढ़ंग से नहीं की जा रही है। उनके मुताबिक ग्रामसभा मैरोली के प्रधान मुकेश कलखुड़िया ने हाईस्कूल का फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर चुनाव लड़ा है। उनका कहना है कि मुकेश कलखुड़िया ने जिस स्कूल से हाईस्कूल का सर्टिफिकेट बनाया है उसकी मान्यता ही नहीं है। वहीं उन्होंने ग्रामसभा बिरगुल के प्रधान कुलदीप मेहराना और ग्रामसभा बुंगाख्याली के प्रधान महेश पंगरिया पर चुनाव लड़ने के दौरान अपना ब्यौरा नहीं देने का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि चुनाव लड़ने के दौरान जो औपचारिकताएं पूरी करनी होती हैं वो दोनों प्रधानों द्वारा नही की गयी हैं। ग्रामीण लक्ष्मी दत्त जोशी के मुताबिक उन्होंने 9 फरवरी 2024 को चुनाव आयोग को पत्र लिखकर इसकी शिकायत की थी। जिसके बाद चुनाव आयोग ने चंपावत जिलाधिकारी को जांच के आदेश जारी किए। चुनाव आयोग के निर्देश पर जिलाधिकारी द्वारा डीपीआरओ को जांच सौंपी गयी। जिसके बाद 28 मार्च को डीपीआरओ द्वारा तीन सदस्यीय टीम का गठन किया गया। जिसमें बीडीओ चंपावत कविन्द्र सिंह रावत, ग्राम विकास अधिकारी अशोक बिष्ट और एक महिला सदस्य को नामित किया गया। ग्रामीण लक्ष्मीदत्त का कहना है कि गठित टीम द्वारा इस मामले में सही से जांच नहीं की जा रही है। अब यहां बड़ा सवाल यह उठता है कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के विधानसभा क्षेत्र में ही अगर ऐसा हो रहा है तो और जगहों पर हालात क्या होंगे? प्रदेश सरकार लगातार जीरो टॉलरेंस की बात को दोहराती है और इस प्रकार के गंभीर मामलों में अधिकारियों द्वारा इस तरह की हीलाहवाली करना अपने आप में कई सवाल उठाती है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि इस मामले में क्या कार्रवाई होती है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें