Wednesday, April 24, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडकांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा ने डोर टू डोर कैंपेन! लोकतंत्र को बीजेपी...

कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा ने डोर टू डोर कैंपेन! लोकतंत्र को बीजेपी से बताया खतरा

अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ सीट से कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा इन दिनों पिथौरागढ़ जिले के भ्रमण पर हैं। प्रदीप टम्टा विभिन्न क्षेत्रों में जाकर जनसंपर्क कर रहे हैं। रविवार को कांग्रेस प्रत्याशी ने पिथौरागढ़ में सभा की। इसके बाद कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ नगर में जुलूस निकालकर शक्ति प्रदर्शन किया।

जनसभा करते हुए प्रदीप टम्टा ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चुनावों में बीजेपी के धनबल के खिलाफ मजबूती से खड़े रहकर जमीनी हकीकत से जनता को वाकिफ कराने का आह्वान किया। प्रदीप टम्टा ने कहा कि कांग्रेस जन पूरी ताकत से इस चुनाव को लड़ रहे हैं। यह समय बीजेपी के दुष्प्रचार और जनविरोधी नीतियों के खिलाफ मजबूती से खड़ा रहकर संघर्ष करने का समय है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के कार्यकर्ता जनता के बीच बीजेपी को बेनकाब करेंगे और जनहित के हर मुद्दे पर पार्टी की गारंटियों का प्रचार करेंगे। उन्होंने कहा कि पूरा देश राहुल गांधी के साथ खड़ा है। पिछले 10 सालों में मोदी सरकार जनता से किए वादे पूरे नहीं कर पाई है। जनता में मोदी सरकार के खिलाफ माहौल है. राहुल गांधी ने अपनी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में जनता को न्याय की गारंटी दी है। भारत की जनता को न्याय के सिवा कुछ नहीं चाहिए। 2024 का यह चुनाव धनतंत्र और गरीब जनता के बीच का चुनाव है। कांग्रेस पार्टी जन तंत्र से लोकतंत्र को बचाना चाहती है। कांग्रेस प्रत्याशी प्रदीप टम्टा ने वर्तमान सांसद अजय टम्टा पर जमकर आरोप लगाए और कहा कि पिछले 10 वर्षों में संसदीय क्षेत्र का विकास पूरी तरह ठप हो गया है। टनकपुर-बागेश्वर रेल लाइन निर्माण भी ठंडे बस्ते में डाल दिया है। सेना में जाने वाले युवाओं के साथ विश्वासघात कर अग्निपथ योजना को लागू कर युवाओं का मनोबल तोड़ने का काम किया है. पहाड़ी राज्य की राजधानी गैरसैंण पर भी सरकार चुप्पी साधे हुई है। पौड़ी के कोटद्वार में कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता चयनिका उनियाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए भाजपा पर एक तरफा कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि साल 2018 से 2024 तक चुनावी बांड के तहत 16.518 करोड़ से लेकर 18.252 करोड़ रुपए मिले हैं. जबकि कांग्रेस पार्टी को 1.950 करोड़ ही प्राप्त हुए। लेकिन केंद्र सरकार ने उन खातों को फ्रीज कर दिया है। भारतीय जनता पार्टी लोकतंत्र की हत्या कर लूट के पैसों को स्वतंत्र रूप से चुनाव में खर्च करने में लगी है। कांग्रेस ने कहा कि केंद्र सरकार ने ईडी, सीबीआई और आयकर जैसी जांच एजेंसियों पर नियंत्रण किया हुआ है। भाजपा बड़ी कंपनियों को मजबूरन ब्लैकमेल कर धन उगाही कर रही है। केंद्र सरकार ने पिछले दिनों जांच एजेंसियों के माध्यम से 94 कंपनियों को निशाना बनाया जिसमें 30 शीर्ष दानदाताओं में 13 कंपनियां शामिल है। वहीं कांग्रेस के आरोपों पर भाजपा के प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य जगमोहन रावत ने कांग्रेस के पास चुनावी मुद्दे नहीं है। चुनावी बॉन्ड में सभी दलों की सहमति से फंड दिया गया है. लगभग 50 वर्षों तक कांग्रेस के राज में चुनावी बॉन्ड के धन को उजागर करें।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें