Saturday, February 24, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड वन विभाग में महत्वपूर्ण फाइलों के गायब होने से मचा हड़कंप,...

उत्तराखंड वन विभाग में महत्वपूर्ण फाइलों के गायब होने से मचा हड़कंप, निगरानी के लिए चौथी मंजिल पर लगे सीसीटीवी कैमरे

देहरादून: उत्तराखंड वन विभाग में महत्वपूर्ण फाइलों के गायब होने से हड़कंप मचा हुआ है. खास बात यह है कि मामला सामने के आने के बाद आज विभाग की चौथी मंजिल पर सीसीटीवी कैमरे भी लगा दिए गए हैं. उधर गायब होने वाली फाइल कौन सी हैं, इस पर अब भी सस्पेंस बरकरार है.उत्तराखंड वन विभाग में कुछ महत्वपूर्ण फाइलें अचानक कार्यालय से गायब हो गई हैं. जिसमें पिरूल से कोयला बनाने के प्रोजेक्ट की फाइल होने के साथ कुछ दूसरी पत्रावलियां भी बताई जा रही हैं. जिनकी जानकारी विभाग सार्वजनिक करने से बच रहा है. ऐसे में संभावना व्यक्त की जा रही है कि गायब होने वाली फाइलों में किसी बड़े मामले से जुड़ी फाइल भी हो सकती है. खासकर कर्मचारियों की जांच या बजट में गड़बड़ी से जुड़ी पत्रावली अभी इसमें हो सकती है. हालांकि विभाग फिलहाल इस पर कुछ भी नहीं कह रहा है.बता दें कि सीसीएस निशांत वर्मा के पास एक तरफ आपदा एवं वनाग्नि की जिम्मेदारी है. साथ ही मानव संसाधन की जिम्मेदारी भी उनके द्वारा देखी जा रही है.

जाहिर है कि दो जिम्मेदारियां उनके पास हैं तो उनके कार्यालय में दोनों ही कार्यालयों की फाइलें मौजूद थी. बताया जा रहा है कि गायब होने वाली फाइलों में बजट से लेकर कर्मचारियों से जुड़े विषयों की पत्रावली भी शामिल हो सकती है.विभाग से इन फाइलों के गायब होने के बाद से ही अधिकारियों और कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है. दरअसल, फाइलें गायब होने की जानकारी मिलने के बाद इस मामले की जांच के लिए कमेटी बनाए जाने की तैयारी भी की जा रही है. दूसरी तरफ फाइलें गायब होने के चलते विभाग के चौथी मंजिल पर जहां यह कार्यालय है वहां पर सीसीटीवी कैमरे भी लगा दिए गए हैं. ताकि आने-जाने वालों पर निगरानी रखी जा सके.

बड़ी बात यह भी है कि हाल ही में वन विभाग में नए मुखिया के तौर पर अनूप मलिक ने जिम्मेदारी संभाली है और जिम्मेदारी संभालने के साथ ही उनके विभाग में फाइलों के गायब होने का मामला प्रकाश में आ गया है. वहीं वन विभाग में हेड ऑफ फॉरेस्ट फोर्स अनूप मलिक ने बताया कि दो पत्रावलियां ऐसी हैं जो कार्यालय से गायब बताई गई हैं. जिनकी डिटेल लेने के लिए कहा गया है. उन्होंने कहा कि इन पत्रावली हो में कौन-कौन से विषयों के कागज है, इस पर पूरी विस्तृत जानकारी ली जा रही है. साथ ही भविष्य में इस तरह की चीजें सामने ना आए इसके लिए सख्त निर्देश भी दिए गए हैं.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें