Saturday, February 4, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडइस्लामिक धर्मगुरु मौलाना अरशद मदनी अउ महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि की हुई...

इस्लामिक धर्मगुरु मौलाना अरशद मदनी अउ महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि की हुई मुलाकात, काली सेना ने किया विरोध की माफी की मांग

हरिद्वारः दारुल उलूम के प्रमुख और शीर्ष इस्लामिक धर्मगुरु मौलाना अरशद मदनी की निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि से हुई मुलाकात का काली सेना ने विरोध शुरू कर दिया है. काली सेना प्रमुख स्वामी आनंद स्वरूप ने कैलाशानंद गिरि की अरशद मदनी से मुलाकात को गलत करार दिया है. उनका कहना है कि जो लोग एक धर्म के खिलाफ बोलते हैं और आए दिन फतवे जारी करते हैं, उन्हें दक्षिण काली मंदिर में बुलाकर सम्मान दिया जाता है. जो सरासर गलत है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि कैलाशानंद गिरि को सार्वजनिक तौर पर माफी मांगनी चाहिए.काली सेना के प्रमुख स्वामी आनंद स्वरूप (Kali Sena founder Swami Anand Swaroop) ने कैलाशानंद गिरि पर निशाना साधते हुए कहा कि एक तरफ तो आप सनातन धर्म के सर्वोच्च पद निरंजनी अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर बनकर बैठे हुए हैं. जिनका कार्य सनातन धर्म और अखाड़ों से जुड़ी परंपराओं का प्रचार प्रसार करना है. वहीं, आप अपने पूजनीय स्थल दक्षिण काली मंदिर में ऐसे लोगों को बुला रहे हैं, जो दूसरे धर्म विशेष के हैं. उनके साथ बैठकर अपने धर्म से जुड़ी बातें कर रहे हैं. इसका हिंदू भाई बहनों पर क्या असर होगा? इसे भी सोचना चाहिए. उन्होंने कहा कि अखाड़ा परिषद और अखाड़े से जुड़े संतों से मांग करते हैं कि वो इस मामले को गंभीरता से लें.

क्यों हुआ विवाद शुरू

बता दें कि बीती 7 जनवरी को हरिद्वार के दक्षिण काली मंदिर में मुस्लिम धर्मगुरु अरशद मदनी, कैलाश आनंद गिरि से मिलने उनके आश्रम पहुंचे थे. इस दौरान दोनों धार्मिक गुरुओं की कई विषयों पर चर्चा हुई. कैलाशानंद गिरि ने मदनी को भगवा शॉल ओढ़ाया तो वहीं, अरशद मदनी ने भी स्वामी कैलाशानंद गिरि को हिंदी में अनुवादित कुरान शरीफ भेंट की. इस दौरान जबरन धर्मांतरण पर मीडिया से बात करते हुए अरशद मदनी ने कहा था कि जबरन धर्मांतरण गलत है. हालांकि, अपनी मर्जी से कोई किसी भी धर्म को अपना सकता है.मौलाना अरशद मदनी (Muslim religious leader Maulana Arshad Madani) ने देशवासियों को अमन और एकजुटता का संदेश दिया था. वहीं, आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी कैलाशानंद गिरि ने कहा कि था मदनी के साथ कई महत्वपूर्ण विषयों पर चर्चा (Arshad Madani met Kailashanand Giri) हुई. अरशद मदनी देश के शीर्ष मुस्लिम धर्मगुरु हैं. उनकी ओर से दिया गया संदेश देश ही नहीं बल्कि दुनिया के मुस्लिम लोगों को प्रेरित करता है. इसलिए हमारा प्रयास है कि इस मुलाकात से देश और समाज में सकारात्मक संदेश जाए.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें