Thursday, May 23, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडगौलापार क्षेत्र में जमीन के दामों में भारी उछाल, प्रस्तावित हाईकोर्ट के...

गौलापार क्षेत्र में जमीन के दामों में भारी उछाल, प्रस्तावित हाईकोर्ट के बाद सक्रिय हुए भूमाफिया

हल्द्वानी: एक साल से गौलापार क्षेत्र में जमीन के दामों में भारी उछाल दर्ज किया गया है. प्रस्तावित हाईकोर्ट के बाद भूमाफिया भी अब सक्रिय हो गए हैं. माफिया द्वारा जमीन की अवैध रूप से खरीद-फरोख्त कर मिलीभगत से अवैध कॉलोनी काटने और मानक विरुद्ध जमीनों की रजिस्ट्री कराने के मामले भी सामने आने लगे हैं.

गौलापार में सक्रिय हुए भूमाफिया: ऐसे में जिलाधिकारी ने जमीन खरीद-फरोख्त के मामले में सख्त निर्देश दिया है. जिला प्रशासन भी मान रहा है कि गौलापार में इन दिनों जमीनों की अवैध रूप से खरीद-फरोख्त के साथ-साथ जमीनों की रजिस्ट्री का काम मिलीभगत से शुरू हो गया है. जिलाधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट और जिला विकास प्राधिकरण से रिपोर्ट मांगी है. बताया जा रहा है कि 2022 से अभी तक करीब 1800 लोगों ने गौलापार में जमीन खरीदी है. यहां अवैध रूप से भी कालोनियां काटी जा रही हैं. प्राधिकरण के अनुसार वहां करीब आठ कालोनियां काटी गई हैं.

डीएम ने माना जमीन खरीद की शिकायतें आ रही हैं: जिला विकास प्राधिकरण ने गौलापार क्षेत्र में अभी से अवैध कॉलोनियों और जमीन की खरीद-फरोख्त पर लगाम नहीं लगाई, तो गौलापार में भी हल्द्वानी की तरह अनियोजित विकास हो जाएगा. जबकि शासन की गौलापार में विकसित टाउनशिप बनाने की योजना है. जिलाधिकारी वंदना सिंह ने बताया कि गौलापार में प्रस्तावित हाईकोर्ट के बाद जमीन खरीद-फरोख्त के मामले बढ़े हैं. जमीन खरीद की शिकायतें भी लगातार सामने आ रही हैं.

भूमि खरीद की जांच सिटी मजिस्ट्रेट को सौंपी: नैनीताल की जिलाधिकारी वंदना सिंह ने कहा कि कुछ मामलों में जांच कराई गई है. जहां भू माफियाओं के खिलाफ चालान की कार्रवाई की गई है. उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट से लगे क्षेत्र के आसपास की हो रही जमीनों की खरीद-फरोख्त के संबंध में सिटी मजिस्ट्रेट को जांच के लिए निर्देश दिये हैं. रिपोर्ट आने के बाद जो भी अनियमितताएं सामने आएंगी, उसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

गौलापार की जमीनों के दाम में आया उछाल: पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य अर्जुन बिष्ट का कहना है कि गौलापार में प्रस्तावित हाईकोर्ट के बाद यहां पर जमीनों के कीमतों में दोगुना उछाल हुआ है. गौलापार में जमीन केवल घर बनाने के लिए ही नहीं बल्कि अस्पताल, स्कूल, कार्यालय और अन्य संस्थानों के लिए भी बड़े पैमाने पर खरीदी जा रही हैं. ऐसे में आने वाले दिनों में जमीन के दाम और बढ़ने की संभावना है. जिला प्रशासन को चाहिए कि जो भी जमीनों की यहां पर खरीद-फरोख्त हो रही है, वह लीगल तरीके से हो, जिससे कि सरकार को भी राजस्व का नुकसान न उठाना पड़े.

दोगुने से ज्यादा हुए गौलापार की जमीनों के रेट: अर्जुन बिष्ट ने बताया कि वर्तमान समय में जमीनों के रेट में काफी उछाल आया है. जहां एक साल पहले 1500 रुपए स्क्वायर फीट जमीन बिक रही थी, उसी जमीन की कीमत इस समय ₹3000 से लेकर ₹4000 स्क्वायर फीट हो गई है. जमीनों के खरीदने के लिए अधिवक्ताओं के साथ साथ कई राज्यों के लोग भी यहां पहुंच रहे हैं. ऐसे में जिला प्रशासन जमीन खरीद-फरोख्त के दौरान सावधानी बरते.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें