Wednesday, July 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडसुरंग हादसा: सिलक्यारा में डटे पुष्कर धामी! बनाया अस्थाई सीएम कैंप ऑफिस,...

सुरंग हादसा: सिलक्यारा में डटे पुष्कर धामी! बनाया अस्थाई सीएम कैंप ऑफिस, रेस्क्यू ऑपरेशन पर पीएम की भी नजर

उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल हादसे के रेस्क्यू ऑपरेशन में आज का दिन काफी अहम होने वाला है। आज उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल से कभी भी खुशखबरी आ सकती है। किसी भी वक्त टनल में फंसे मजदूरों को रेस्क्यू किया जा सकता है। इस रेस्क्यू ऑपरेशन पर पीएम मोदी भी नजर बनाये हुए है। वे इस मामले में लगातार अपडेट ले रहे हैं। सीएम धामी भी घटनास्थल पहुंचे। सीएम धामी ने टनल में फंसे मजदूरों से बात की। इस दौरान उन्होंने टनल में फंसे मजदूरों का हौंसला बढ़ाया। साथ ही उत्तरकाशी सिल्क्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन को देखते हुए मातली में अस्थायी मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय स्थापित किया गया है।

आज उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल हादसे का 12 वां दिन है। टनल में फंसे 41 मजदूरों को निकालने का काम अंतिम चरण में है। अभी तक उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल में 50 मीटर से अधिक की खुदाई कर दी गई है। किसी भी वक्त रेस्क्यू टीम टनल में फंसे मजदूरों तक पहुंच सकती है। उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल में फंसे मजदूरों के रेस्क्यू ऑपरेशन पर केंद्र की भी नजर है। पीएम मोदी उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन की पल पल की अपडेट ले रहे हैं। उत्तरकाशी सिल्क्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन को देखते हुए मातली में अस्थायी मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय स्थापित किया गया है।

उत्तराखंड सीएम पुष्कर धामी ने बताया पीएम मोदी लगातार उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल हादसे पर नजर बनाये हुए हैं। वे घटनास्थल पर पहुंच गये हैं। सीएम धामी ने टनल में फंसे मजदूरों से बात की। इस दौरान उन्होंने टनल में फंसे मजदूरों का हौंसला बढ़ाया। इस दौरान सीएम धामी ने बताया पीएम मोदी रेस्क्यू ऑपरेशन की हर छोटी बड़ी अपडेट ले रहे हैं। उन्होंने कहा पीएम मोदी ने रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए हर संभव मदद का भरोसा दिया था। जिसके बाद उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल हादसे में फंसे मजदूरों के रेस्क्यू के लिए वायुसेना के हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया गया। मौके पर एनडीआरफ की टीमें तत्काल भेजी गई। सेना को भी इस रेस्क्यू ऑपरेशन का हिस्सा बनाया गया। घटनास्थल पहुंचकर सीएम धामी ने बौख नाग देवता के दर्शन किये। इस दौरान उन्होंने सभी श्रमिकों की कुशलता के लिए कामना की। इसके बाद सीएम धामी ने टनल में फंसे श्रमिकों में से गब्बर सिंह नेगी एवं सबा अहमद से बात कर उनका कुशलक्षेम जाना. साथ ही उन्हें सकुशल बाहर निकालने के लिए चल रहे रेस्क्यू ऑपरेशन से भी अवगत कराया। दोनों लोगों ने सभी श्रमिक भाइयों के स्वस्थ और सुरक्षित होने की जानकारी दी।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एवं केंद्रीय राज्य मंत्री जनरल (रिटा.) वीके सिंह ने गुरुवार को सिलक्यारा, उत्तरकाशी में टनल रेस्क्यू ऑपरेशन का जायज़ा लेने के उपरांत राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा सभी एजेंसी आपसी समन्वय के साथ राहत और बचाव कार्य में जुटे रहें। हम सब का यह प्रयास हो की फंसे श्रमिकों को जल्द से जल्द सुरक्षित बाहर निकाला जाए। फंसे श्रमिकों को निकालने के लिए हर संभव प्रयास करें.मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को टनल में फंसे श्रमिकों का विशेष ध्यान रखे जाने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा अंदर श्रमिकों की मांग अनुसार हर संभव सामग्री उपलब्ध कराई जाए। हर दिन डॉक्टरों से उनकी बात करवाई जाए। साथ ही श्रमिकों एवं उनके परिजनों के बीच निरंतर संवाद कायम रखा जाये। इसके साथ ही उत्तरकाशी सिल्क्यारा टनल रेस्क्यू ऑपरेशन को देखते हुए मातली में अस्थायी मुख्यमंत्री कैंप कार्यालय स्थापित किया गया है। सीएम धामी ने बताया पीएम मोदी ने उत्तरकाशी सिलक्यारा टनल हादसे की गंभीरता को समझते हुए पीएमओ से भी एक टीम मौके पर भेजी। ये टीम कई दिनों से घटनास्थल पर डेरा जमाये हुए हैं। साथ ही यह टीम पीएम मोदी को रेस्क्यू ऑपरेशन की अपडेट दे रही है। इसके साथ ही केंद्रीय मंत्रियों ने भी सिलक्यारा पहुंचकर मजदूरों के परिजनों से बात की।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें