Friday, June 2, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडपिंडारी ग्लेशियर में फंसे सभी विदेशी और एक भरतीय ट्रेकर्स सुरक्षित, सभी...

पिंडारी ग्लेशियर में फंसे सभी विदेशी और एक भरतीय ट्रेकर्स सुरक्षित, सभी को सुरक्षित पॉइंट जीरो पर लेकर पहुंची एसडीआरफ की टीम

बागेश्वर (उत्तराखंड): कपकोट तहसील के पिंडारी ग्लेशियर में हो रही बर्फबारी में के बाद फंसे 13 विदेशी ट्रेकर्स और एक भारतीय गाइड को सुरक्षित रेस्क्यू कर लिया है. 2:30 बजे तक इन लोगों को प्वाइंट जीरो से सकुशल लाया गया है. एसडीआरफ की टीम सभी को सकुशल प्वाइंट जीरो से लेकर पहुंची.

एसडीआरएफ रिद्धिम अग्रवाल ने बताया पिंडारी ग्लेशियर में भारी बर्फबारी के चलते 13 विदेशी ट्रेकर्स और एक भारतीय गाइड फंस गया था. जिनका सामान भी बर्फ में दब गया था. इसके बाद उन्होंने सेटेलाइट फोन के माध्यम से संपर्क किया. जिसके बाद उन्हें लगातार स्थानीय प्रशासन द्वारा मदद दी जा रही है. हेली सेवा के लिए यूकाडा से भी बातचीत की गई है, फिलहाल एसडीआरएफ के माध्यम से सभी को सकुशल प्वाइंट तक पहुंचाया गया है. सभी के खाने पीने की पूरी व्यवस्था कर दी गई है. सभी को जरूरी सामान भी मुहैया कराया गया है.बता दें 13 विदेशी ट्रेकर्स और एक भारतीय गाइड पिंडारी ग्लेशियर में फंस गए थे. जिसके बाद इन लोगों ने सेटेलाइट फोन से जरिये अपवी जानकारी पहुंचाई. इन्होंने बताया ये सभी पिंडारी में बाबाजी की कुटिया के पास हैं. इन ट्रेकर्स ने अपना सामान दबने की सूचना दी. सूचना प्राप्त होने पर तहसील प्रशासन अलर्ट हुआ. तुरंत राहत सामग्री लेकर टीम मौके के लिए रवाना की गई. जिला प्रशासन ने सरकार से चॉपर की मांग की है.

बता दें इस महीने की शुरुआत में विदेशी ट्रेकरों का 13 सदस्यीय दल एक भारतीय गाइड के साथ पिंडारी ग्लेशियर गया था. तीन अप्रैल को वन विभाग की अंतिम चेक पोस्ट जैंकुनी में पंजीकरण कराकर दल पिंडारी की ओर रवाना हुआ. रेंजर शंकर दत्त पांडेय ने फोन पर बताया कि दल को पिंडारी ग्लेशियर के शीर्ष में ट्रेल पास दर्रे को पार करते हुए मुनस्यारी जाना था. बीते दिन ग्लेशियर में भारी बर्फबारी होने से एवलांच में दल का राशन समेत अन्य जरूरी सामान दबने की जानकारी मिली. एडीएम चंद्र सिंह इमलाल ने बताया आज सुबह ट्रेकरों के सुरक्षित होने की सूचना मिली है. सभी ट्रेकर पिंडारी में बाबाजी की कुटिया के पास सुरक्षित बताये गये.

पिंडारी ग्लेशियर में फंसे सभी विदेशी ट्रेकर्स सुरक्षित
जानकारी के बाद एसडीआरएफ के पांच जवान, राजस्व, स्वास्थ्य, पुलिस और वन विभाग की संयुक्त टीम राहत सामग्री लेकर ग्लेशियर की ओर रवाना हुए. जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने बताया किसी बड़ी अनहोनी को देखते हुए उनके द्वारा तत्काल रूप से केंद्र और राज्य से हेलीकॉप्टर और एनडीआरएफ की टीम के लिए बात की है.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें