Tuesday, April 23, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड में मनरेगा के कार्यों का अब अधिक गहनता से होगा सोशल...

उत्तराखंड में मनरेगा के कार्यों का अब अधिक गहनता से होगा सोशल ऑडिट! भुगतान में नहीं आएगी कोई परेशानी

उत्तराखंड में मनरेगा के अंतर्गत होने वाले कार्यों का अब अधिक गहनता से सोशल आडिट होगा। राज्य के एक दिवसीय दौरे पर बुधवार को देहरादून आए केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव शैलेश कुमार सिंह ने ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि मनरेगा के सोशल आडिट को अधिक विस्तार देने के साथ ही इसकी गुणवत्ता भी बढ़ाई जाए।

उन्होंने कहा कि एरिया अफसर मानीटरिंग के तहत राज्य में 66 प्रतिशत निरीक्षण हो रहे हैं, जिसे बढ़ाने की आवश्यकता है। केंद्रीय सचिव सिंह ने सचिवालय स्थित मुख्य सचिव सभागार में हुई समीक्षा बैठक में मनरेगा के कार्यों के सोशल आडिट के लिए समय पर धन निर्गत न होने और प्रशासनिक मद में छह प्रतिशत राशि बिना बिलंब के जारी करने से जुड़े विषयों पर शीघ्र ही उचित कार्रवाई का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा कि मनरेगा में राज्य में 66 प्रतिशत श्रमिकों को ही अभी तक आधार आधारित भुगतान प्रक्रिया से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि यह कार्य इस वर्ष दिसंबर तक होना है, लिहाजा इस अवधि में सभी श्रमिकों को शत-प्रतिशत इस प्रक्रिया से जोड़ना सुनिश्चित किया जाए। अमृत सरोवर योजना में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष 129 प्रतिशत की प्रगति पर उन्होंने राज्य की पीठ थपथपाई। चंपावत जिले में निर्धारित लक्ष्य के सापेक्ष चार सरोवर शेष रहने का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यदि आने वाले दिनों में सरोवर जोडऩे का विकल्प फिर से खुलता है तो उसमें इन्हें शामिल कर लिया जाए। उन्होंने राज्य में शुरू किए गए अमृत सरोवर एवं मत्स्य पालन, मेरा गांव-मेरी सड़क, आजीविका पैकेज मॉडल समेत अन्य नवाचारों की सराहना की। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना की समीक्षा में उन्होंने कहा कि योजना के प्रथम व द्वितीय चरण के कार्य मार्च 2024 तक पूर्ण करने का लक्ष्य है। साथ ही निर्देश दिए कि अनुरक्षण कार्यों में नियमित निरीक्षण को अनिवार्य एवं समयबद्ध रूप से करते हुए गुणवत्तापरक कार्य कराए जाएं। इस अवसर पर उन्हें उत्तराखंड राज्य ग्रामीण मिशन के तहत महिला समूहों का गठन, ग्रामीण उद्यम वेग वृद्धि परियोजना, प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण आदि की प्रगति से भी अवगत कराया गया। समीक्षा बैठक में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय के उपमहानिदेशक गया प्रसाद के अलावा उत्तराखंड ग्राम्य विकास विभाग की सचिव राधिका झा, समाज कल्याण सचिव बृजेश कुमार संत, अपर सचिव एवं ग्राम्य विकास आयुक्त आनंद स्वरूप, अपर सचिव नितिका खंडेलवाल समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे। केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव शैलेश कुमार सिंह ने अपने दौरे में रायपुर और डोइवाला विकासखंड में विभिन्न कार्यों व योजनाओं का निरीक्षण भी किया। उन्होंने रायपुर में मिलेट बेकरी का अवलोकन किया। साथ ही स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार मिलेट के उत्पादों का स्वाद चखा। उन्होंने रायपुर में पीएमजीएसवाई के अंतगत बनी सड़कों का निरीक्षण करने के बाद डोईवाला विकासखंड के रानी पोखरी में स्वाभिमान क्लस्टर फेडरेशन के कार्यों की जानकारी ली। उन्होंने उत्तरास्टेट इंपोरियम और चकजोगीवाला में मनरेगा में बने अमृत सरोवर व पीएमएवाई-जी में निर्मित आवास का अवलोकन भी किया।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें