Monday, June 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homecrimeपैर में गोली लगने से जान कैसे गई , शहीद की मंगेतर...

पैर में गोली लगने से जान कैसे गई , शहीद की मंगेतर का सवाल

समाचार रिपोर्ट में शहीद सैनिक सचिन राठी की मंगेतर द्वारा उनकी मौत की परिस्थितियों को लेकर उठाए गए सवाल के बारे में जानकारी दी गई है। सचिन राठी एक सिपाही थे, जिन्होंने उत्तर प्रदेश के कन्नौज में हिस्ट्रीशीटर अशोक यादव को पकड़ने की कोशिश कर रही पुलिस टीम पर हमले के दौरान अपनी जान गंवा दी थी।

डॉ. राजेश सिंह के अनुसार, सीएचसी (सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र) द्वारा किए गए पोस्टमार्टम से पता चला कि सचिन राठी को दाहिनी जांघ में गोली मारी गई थी, जिससे उनके पैर की धमनियां फट गईं, जिससे अत्यधिक रक्तस्राव हुआ और अंततः उनकी मृत्यु हो गई। रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि सचिन की मंगेतर कोमल ने इस बात पर अविश्वास जताया कि पैर में गोली लगने से उनकी मौत कैसे हो सकती है।

यह घटना कन्नौज में अशोक यादव को गिरफ्तार करने की कोशिश कर रही पुलिस टीम पर हमले के दौरान हुई थी. सचिन राठी की मौत के बाद अशांति की खबरें आईं और कोमल उत्तेजित अवस्था में पोस्टमार्टम हाउस के बाहर पुलिस अधिकारियों से भिड़ गईं। उन्होंने सचिन की मौत की परिस्थितियों पर सवाल उठाए और जवाब मांगा.

रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि सचिन राठी के पिता ने कोमल को सांत्वना देने की कोशिश की और उसे कार में बैठने का आग्रह किया, लेकिन वह सचिन के शव वाले वाहन में बैठने की जिद करने लगी। पोस्टमार्टम हाउस के बाहर स्थिति तनावपूर्ण हो गई और बाद में ठठिया पुलिस समेत पुलिस बल सचिन के शव को लेकर कन्नौज के लिए रवाना हो गया।

कोमल द्वारा अपनी हताशा व्यक्त करने और सचिन की मौत की परिस्थितियों पर सवाल उठाने का वीडियो वायरल हो गया। रिपोर्ट में सचिन राठी की चोटों और उन्हें बचाने के चिकित्सा प्रयासों के विवरण पर प्रकाश डाला गया है। इसमें यह भी उल्लेख किया गया है कि सचिन की मौत के बाद एडीजी (अपर महानिदेशक) और आईजी (महानिरीक्षक) शुरू में पोस्टमार्टम हाउस नहीं पहुंचे, जिससे पुलिस कर्मियों में असंतोष फैल गया। बाद में पता चला कि घटना के बाद एडीजी और आईजी कन्नौज गए थे और मंगलवार को वहीं मौजूद थे.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें