Monday, June 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडजौलीग्रांट लाया गया उत्तराखंड के जवान रुचिन सिंह रावत और हिमाचल प्रदेश...

जौलीग्रांट लाया गया उत्तराखंड के जवान रुचिन सिंह रावत और हिमाचल प्रदेश के सिरमौर के जवान प्रमोद नेगी के पार्थिव शरीर, सीएम धामी ने अर्पित की श्रद्धांजलि

डोईवाला (उत्तराखंड): आज सुबह जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में वहां के राज्यपाल मनोज सिन्हा ने सभी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देकर उनके पार्थिव शरीर उनके गृह राज्यों के लिए रवाना किए. उत्तराखंड के जवान रुचिन सिंह रावत और हिमाचल प्रदेश के सिरमौर के जवान प्रमोद नेगी के पार्थिव शरीर जौलीग्रांट ले आए गए हैं. उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खुद जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर मौजूद रहे. सीएम धामी ने दोनों शहीदों के पार्थिव शरीरों पर पुष्प चढ़ाकर श्रद्धांजलि अर्पित की. पूरे सैनिक सम्मान के साथ देश के लिए शहीद होने वाले दोनों जवानों को श्रद्धांजलि दी गई.राजौरी में शहीद हुए पांच कमांडो: जम्मू कश्मीर के राजौरी में खेसारी पहाड़ी क्षेत्र में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई. इस अभियान में 5 कमांडो शहीद हो गए. दरअसल पिछले महीने जम्मू क्षेत्र के भाटा धुरियां के तोता गली इलाके में सेना के ट्रक पर आतंकवादियों ने घात लगाकर हमला कर दिया था. इस हमले में सेना के पांच जवान शहीद हो गए थे.

सेना का वाहन उड़ाने वाले आतंकियों की तलाश में चल रहा था सर्च ऑपरेशन: इन्हीं हमलावर आतंकियों की तलाश में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा था. सेना की उत्तरी कमान की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि राजौरी सेक्टर में कांडी वन में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में विशिष्ट सूचना के आधार पर तीन मई को संयुक्त अभियान शुरू किया गया था. शुक्रवार सुबह तलाशी दल ने एक गुफा में छिपे आतंकवादियों के एक गैंग को घेर लिया था. चट्टानों और खड़े पर्वतीय क्षेत्रों से घिरे इस इलाके में बेहद घना जंगल का इलाका है. आतंकवादियों ने इसके जवाब में बम ब्लास्ट कर दिया. इस ऑपरेशन में पांच जवान शहीद हो गए.

जम्मू कश्मीर में उत्तराखंड का जवान रुचिन सिंह रावत शहीद, गैरसैंण में शोक की लहरगैरसैंण में शोक की लहर: गैरसैंण के लाडले कमांडो रुचिन सिंह रावत की बहादुरी से जहां लोग गर्व महसूस कर रहे हैं, वहीं उनकी शहादत से गमगीन भी हैं. इलाके में शोक की लहर है. रुचिन सिंह रावत गैरसैंण के कुनीगाड़ मल्ला गांव के निवासी थे. उनमें देश प्रेम का जज्बा कूट-कूटकर भरा था. शहीद कमांडो रुचिन सिंह रावत के परिवार में बुजुर्ग माता-पिता, पत्नी और चार वर्षीय बच्चा है. रुचिन रावत 9 पैरा में कमांडो थे. इस समय वो जम्मू कश्मीर में उधमपुर यूनिट में थे तैनात.

ये पांच कमांडो हुए हैं शहीद: आतंकवादियों के खिलाफ सर्च ऑपरेशन में जो पांच कमांडो शहीद हुए हैं उनके नाम इस तरह हैं- लांस नायक रुचिन सिंह रावत, पैराट्रूपर प्रमोद नेगी, पैराट्रूपर सिद्धांत छेत्री, नायक अरविंद कुमार और हवलदार नीलम सिंह.धामी बोले सरकार शहीदों के परिवार के साथ खड़ी है: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा में अपने प्राण न्यौछावर करने वाले हमारे शहीदों को यह देश हमेशा याद रखेगा. राज्य सरकार हर पल सैनिक परिवारों के साथ खड़ी है. उन्होंने कहा हमारी सरकार शहीद रुचिन सिंह रावत के परिजनों की हर संभव मदद करेगी. उन्होंने परिजनों से इस दुख की घड़ी में धैर्य बनाए रखने की अपील की. इस दौरान कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी, विधायक बृजभूषण गैरोला, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून दिलीप कुंवर एवं अन्य लोग मौजूद रहे.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें