Saturday, February 4, 2023
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडहाईकोर्ट के न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे हुए सेवानिवृत्त, न्यायाधीश कोर्ट में हुआ फुल...

हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे हुए सेवानिवृत्त, न्यायाधीश कोर्ट में हुआ फुल कोर्ट रेफरेंस का आयोजन

सोमवार शाम हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे के सेवानिवृत्त होने के अवसर पर मुख्य न्यायाधीश कोर्ट में उनके लिए फुल कोर्ट रेफरेंस का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में बड़ी संख्या में अधिवक्तागण और मुख्य न्यायाधीश विपिन सांघी, वरिष्ठ न्यायाधीश संजय कुमार मिश्रा, न्यायमूर्ति मनोज तिवारी, न्यायमूर्ति शरद कुमार शर्मा, न्यायमूर्ति रविन्द्र मैठाणी, न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा के अलावा रजिस्ट्रार जर्नल विवेक भारती शर्मा और न्यायालय के अधिकारी मौजूद रहे।


न्यायमूर्ति खुल्बे का जन्म जनवरी 1961 में हुआ। उन्होंने अल्मोड़ा में प्राथमिक शिक्षा के बाद कुमाऊं विश्वविद्यालय से लॉ की डिग्री प्राप्त की थी,न्यायमूर्ति आरसी खुल्बे 1987 में उत्तर प्रदेश न्यायिक सेवा में शामिल हुए। बरेली, बदायूं, बिजनौर, नैनीताल और खटीमा में सिविल जज (जूनियर डिवीजन) के रूप में कार्य किया। जस्टिस खुल्बे 1999 में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट, शाहजहांपुर बने। उसके बाद 2001 से 2003 तक ऊधम सिंह नगर में मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के रूप में कार्य किया। हरिद्वार, हल्द्वानी और रुड़की में अतिरिक्त जिला न्यायाधीश, औद्योगिक अधिकरण, हल्द्वानी के पीठासीन अधिकारी और जुलाई, 2010 में जिला न्यायाधीश उत्तरकाशी के रूप में भी काम किया। उन्होंने 2013 में सचिव लोकायुक्त के रूप में कार्य किया। 3 दिसंबर 2018 को वे हाईकोर्ट के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत हुए।

आज न्यायमूर्ति के विदाई समारोह में मौजूद रहे महाधिवक्ता एस.एन.बाबुलकर ने न्यायमूर्ति आर.सी.खुल्बे के बारे में कहा कि वे बेहद ही मिलनसार और सरल स्वभाव के व्यक्ति है हाईकोर्ट में ज़्यादातर सभी एडवोकेट उनके विनम्र स्वभाव को पसन्द करते है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें