Monday, June 17, 2024
No menu items!
Google search engine
HomeIndiaमोनालिसा की भौहों का रहस्य सुलझा: एक नई रिसर्च के द्वारा खोला...

मोनालिसा की भौहों का रहस्य सुलझा: एक नई रिसर्च के द्वारा खोला गया पर्दा

9December,2023



दुनिया की सबसे प्रसिद्ध और रहस्यमयी मुस्कान वाली महिला, मोनालिसा की पेंटिंग के बारे में हमेशा से कई किस्से और कहानियाँ सुनी जाती रही हैं। लेकिन एक नई रिसर्च ने उसकी पेंटिंग के एक रहस्य को सुलझाया है जो हर किसी को हैरान कर देगा।

चेहरे के दर्द का रहस्य:

मोनालिसा की पेंटिंग के चेहरे पर कोई दर्द क्यों नहीं है, यह सवाल हमेशा से चर्चा का केंद्र रहा है। लेकिन एक नई रिसर्च के अनुसार, जिन्होंने 3000 घंटे तक पेंटिंग को जांचा, उनका कहना है कि मोनालिसा की भौहों में जो मजबूती है, उसे नंगी आंखों से नहीं देखा जा सकता है। उनका मानना है कि इस पेंटिंग में दा विंची ने भौहों को सबसे कच्चे रंग से बनाया है, जिसके कारण यह कई बार बहाल किए जाने पर गायब हो गया है। रिसर्चर का मानना है कि ये धुंधले पेड़ों की जगह मोनालिसा की भौहें हो सकती हैं।



मोनालिसा कौन थी?

मोनालिसा की पहचान का सवाल हमेशा रहा है। इस पर्शिया के एक्जिनियर ने कहा है कि असली मोनालिसा लिसा डेल जियोकोंडो थी, जो फ्लोरेंस के एक व्यापारी की पत्नी थीं। इस तस्वीर को बनाने के पीछे दा विंची की खुद की इच्छा थी और यह बहुत खूबसूरत थी जैसा कि वह चाहते थे। इससे यह साबित होता है कि मोनालिसा न केवल एक रहस्यमयी मुस्कान वाली महिला थीं, बल्कि उनकी भौहें भी किसी विशेष कारण से ही ऐसी बनाई गईं हो सकती हैं।

रिसर्च के अनुसार क्या है?

पास्कल कोट नामक इस रिसर्चर ने 240 मेगापिक्सेल स्कैन के माध्यम से मोनालिसा की पेंटिंग का आकलन किया है और उनका मानना है कि वह दा विंची ने भौहों को सबसे कच्चे रंग से बनाया है, जिससे वे बार-बार बहाल किए जाने पर गायब हो गए हैं। उनकी तरह यहां धुंधले पेड़ों के छायांक में मोनालिसा की भौहें हो सकती हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें